"चिकित्सा समाज सेवा है,व्यवसाय नहीं"

Wednesday, 19 April 2017

जिगर है तो जान है ------ राजलक्ष्मी

स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं






No comments:

Post a Comment