"चिकित्सा समाज सेवा है,व्यवसाय नहीं"

Showing posts with label जल का महत्व. Show all posts
Showing posts with label जल का महत्व. Show all posts

Saturday, 10 May 2014

जल का महत्व,प्रयोग और सम्मान







http://religion.bhaskar.com/article/FM-HL-yoga-benefits-of-drinking-water-4581966-NOR.html

उज्जैन। पानी सिर्फ प्यास नहीं बुझाता है। यह हमारे शरीर के संचालन में योगदान देने वाली सबसे महत्वपूर्ण चीजों में से एक है। पानी हमारे शरीर की मेटाबॉलिज्म क्रियाओं में सहयोग करता है। यह हमारे शरीर से हानिकारक रासायनों को बाहर निकालता है। 

मेडिकल साइंस के अनुसार जिस प्रकार नहाने से शरीर के बाहर की सफाई होती है, ठीक उसी प्रकार पानी पीने से शरीर के अंदर की सफाई होती है। एक वयस्क पुरुष के शरीर में पानी उसके शरीर के कुल भार का लगभग 65 प्रतिशत और एक वयस्क स्त्री के शरीर में उसके शरीर के कुल भार का लगभग 52 प्रतिशत तक होता है।

- दिन भर सांस लेने-छोडऩे में ही हम 2-3 कप पानी खर्च कर देते हैं। पसीने के अलावा, पेशाब के रूप में निकला पानी शरीर की गंदगी साफ  करता है। अगर शरीर से करीब 10 फीसदी तरल पदार्थ कम हो जाएं तो डिहाइड्रेशन का खतरा रहता है। यही वजह है कि किडनी को दुरुस्त रखने के लिए भी बार-बार पानी पीना जरूरी है।
 - पतले लोगों के शरीर में ज्यादा पानी होता है, क्योंकि चर्बी (फैट) की तुलना में मांसपेशियों (मसल्स) में पानी धारण करने की क्षमता ज्यादा होती है। इसका मतलब साफ  है कि सेहत और सौंदर्य के लिए पर्याप्त पानी की अहमियत बेहद ज्यादा है
- विशेषज्ञों का मानना है कि पर्याप्त पानी पीकर आप अपनी त्वचा को चमका सकते हैं और इससे आपका चेहरा भी दमकता नजर आने लगता है। पानी त्वचा का प्राकृतिक पोषक है। यह झुर्रियों से निजात दिलाता है और बेजान त्वचा में चमक पैदा कर देता है।

- मौजूदा जीवन शैली में अक्सर लोग पानी पीने पर पूरा ध्यान नहीं देते। शरीर में पानी कम होने से सिर दर्द, मांसपेशियों की कमजोरी, थकान और सोचने की शक्ति कम होने जैसी स्थितियां बनने लगती हैं और कई लोगों को काम के दौरान इस बात का आभास ही नहीं हो पाता।
- भोजन करने के 30 मिनट पहले 2 गिलास पानी पीने से पाचन शक्ति बढ़ती है। सुबह उठने के बाद 1 गिलास पानी पीने से आपके अंदरूनी अंग मजबूत होते हैं।
- पानी हमें गर्मी से बचाता है। अगर आप जरूरत के हिसाब से पानी नहीं पीएंगे तो आपके शरीर का तापमान घातक तरह से बढ़ सकता है। सही तरह से पानी न पीने से शरीर की काम करने की गति घट जाती है, वह थक जाता है और उसका मेटाबॉलिज्म धीमा पडऩे लगता है।

- भोजन को पचाने के लिए हमारा पेट एंजाइम का उत्पादन करता है, जो एसिडिक होते हैं। इसलिण् जब तक  ठीक मात्रा में पानी नहीं पिएंगे, तब तक आपका पेट ठीक नहीं रहेगा और पेट में एसिड बनता रहेगा।
  जो लोग ज्यादा पानी पीते है उनको पथरी होने की संभावना न के बराबर होती है। ज्यादा पानी पीने से शरीर में हानिकारक तत्वों का निष्कासन पसीने और मूत्र के द्वारा हो जाता है।

- सोने से पहले 1 गिलास पानी पीने से आप हार्ट अटैक जैसी परेशानी से बच सकते हैं। नहाने के बाद 1 गिलास पानी पीने से आप कम रक्तचाप से बच सकते हैं।
************************************************
हरे-भरे वृक्षों की कटाई के कारण वन समाप्त होते जा रहे हैं और वर्षा चक्र अव्यवस्थित हो चुका है इसी कारण भूमिगत जल-स्तर भी गिर गया है। तमाम इलाकों में घोर पेय जल संकट है। किन्तु धनवान लोग अपनी कार,मोटर साईकिल,स्कूटर,घर का लान,घर के सामने की सड़क धो-धो कर जल की अथाह बरबादी करते हैं। इस प्रवृति को छोडना या फिर सरकारी स्तर पर रोक लगाना चाहिए।